About Us
शासकीय सुखराम नागे महाविद्यालय नगरी

जिला धमतरी, छत्तीसगढ़

महाविद्यालय का परिचय


यह महाविद्यालय 4 सितम्बर 1984 को कला संकाय में स्नातक स्तर के अध्यापन के साथ प्रारम्भ हुआ । सत्र 1986 में वाणिज्य संकाय एवं 1987 में विज्ञान संकाय प्रारम्भ हुआ तथा सत्र 1997-98 में इतिहास एवं सत्र 2005-06 में हिंदी में स्नातकोत्तर स्तर की कक्षाएं, सत्र 2016-17 में PGDCA, सत्र 2017-18 से स्नातक स्तर पर नवीन विषय भूगोल एवं सत्र 2018-19 से समाजशास्त्र एवं राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की अनुमति प्राप्त हुई प्रारम्भ हुईं । दिनांक 28.05.2008 से यह महाविद्यालय, ग्राम छिपली स्थित स्वयं के भवन में संचालित हो रहा है | यह भवन 5.78 एकड़ के भूखंड पर स्थित है, जिसे नगरी ग्राम पंचायत ने छिपली ग्राम पंचायत से प्राप्त कर, दिनांक 13.03.1992 को उच्च-शिक्षा विभाग को हस्तांतरित किया ।

छत्तीसगढ़ शासन ने 13.03.2008 के अपने आदेश द्वारा महाविद्यालय का नामकरण, इस अंचल के प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सुखराम नागे के नाम कर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की है | आदिवासी ब्लॉक में स्थित इस महाविद्यालय की राजधानी रायपुर से दूरी 143 कि.मी. है एवं यह जिला मुख्यालय धमतरी से 65 कि.मी. की दूरी पर दक्षिण-पूर्व दिशा में स्थित है । रायपुर से धमतरी एवं धमतरी से नगरी के लिए बस एवं टैक्सी की समुचित सुविधा उपलब्ध है । यह महाविद्यालय पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय, रायपुर से सम्बद्ध है । इस महाविद्यालय में वर्ष 1986-87 से राष्ट्रीय सेवा योजना संचालित है जिसमे 100 स्वयंसेवकों की इकाई है, जो राष्ट्रीय एवं राज्य-स्तरीय कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के लिए समर्पित है ।

इस महाविद्यालय में सह-शिक्षा है एवं बहुसंख्यक छात्र-छात्राएं अनुसूचित जाति ,अनुसूचितजनजाति तथा पिछड़ा वर्ग एवं बीपील वर्ग से सम्बंधित है । महाविद्यालय की देखरेख एवं विकास सम्बंधी कार्यों में महाविद्यालय जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष एवं सदस्यों का सक्रिय सहयोग इस महाविद्यालय की प्रगति का आधार है ।

पाठ्यक्रम

अवधि

विषय

सीट संख्या

सम्बद्धता

बी.ए.

3 वर्षीय  

हिन्दी साहित्य, इतिहास, राजनीति-शास्त्र, समाज-शास्त्र, अर्थ-शास्त्र, भूगोल, पर्यावरण अध्ययन, हिन्दी भाषा एवं अंग्रेजी-भाषा

   240

    +30 (भूगोल)

  पंडित रविशंकर  शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर से सम्बद्ध

बी.एस-सी.

3 वर्षीय  

गणित, रसायन-शास्त्र, भौतिक-शास्त्र, वनस्पति-शास्त्र, प्राणीविज्ञान, पर्यावरण अध्ययन, हिन्दी भाषा एवं अंग्रेजी-भाषा

    150

बी.कॉम

3 वर्षीय  

सभी अनिवार्य विषय, पर्यावरण अध्ययन, हिन्दी भाषा एवं अंग्रेजी-भाषा

    120

एम.ए.

2 वर्षीय

( 4 सेमेस्टर)  

हिन्दी,

इतिहास,

समाजशास्त्र एवं राजनीति-शास्त्र

   50

   50

   30

    30

पीजीडीसीए

(PGDCA)

1 वर्षीय

( 2 सेमेस्टर)  

सभी अनिवार्य विषय एवं प्रोजेक्ट

   40

महाविद्यालय में उपलब्ध सुविधाएँ -
  1. Wi-Fi की सुविधा
  2. INFLIBNETके माध्यम से e-resources की सुविधा
  3. RF connectivity युक्त 8 mbps Internet की सुविधा
  4. महाविद्यालय के वेबसाईट में Online Lecture Note की उपलब्धता
  5. विज्ञान विषयों हेतु 04 प्रयोगशाला
  6. LAN एवं Internet सुविधा युक्त कम्प्युटर प्रयोगशाला
  7. सर्वसुविधा युक्त सेमीनार हॉल
  8. उन्नत बैठक व्यवस्था एवं Magnetic Green Board युक्त 20 व्याख्यान कक्ष
  9. प्राचार्य कक्ष, कार्यालय एवं कम्प्युटर लैब हेतु 3 KVA Power backup
  10. ग्रंथालय एवं वाचनालय की सुविधा
  11. 4 Water Cooler एवं UV filter युक्त शुद्ध पेयजल व्यवस्था
  12. Electronic surveillance युक्त सुरक्षित महाविद्यालय परिसर
  13. राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) के अन्तर्गत 100 स्वयं सेवकों की सक्रिय इकाई संचालित
  14. छात्र-छात्राओं हेतु 06 एवं अधिकारी एवं कर्मचारियों हेतु 01 शौचालय की सुविधा
  15. Indoor/Out-door Games की सुविधा

>